Breaking News

Galwan Valley Main Sainik Ke Mare Jane Par China Ne Kya Kaha – गलवान घाटी में सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा

Galwan Valley Main Sainik Ke Mare Jane Par China Ne Kya Kaha – गलवान घाटी में सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा-15 जून की रात लद्दाख में भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के बीच लड़ाई हुई। ये हिंसक झड़प लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल में भारत की तरफ पड़ने वाली गलवान घाटी के इलाके में हुई।

इसमें एक कर्नल समेत 20 भारतीय जवान शहीद हुए और 70 से ज्यादा घायल हुए। वहीं PLA के कितने जवान मारे गए, इसे लेकर कोई आधिकारिक आंकड़ा चीन की तरफ से सामने नहीं आया है।लेकिन केंद्रीय मंत्री जनरल (रिटायर्ड) वी.के. सिंह ने 20 जून को कहा था कि चीन के 40 से ज्यादा जवान मारे गए हैं।

Galwan Valley Main Sainik Ke Mare Jane Par China Ne Kya Kaha – गलवान घाटी में सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा

अब इस पर चीन की तरफ से बयान आ गया है। उन्होंने इस दावे को खारिज किया है।‘ग्लोबल टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा है कि PLA के 40 जवानों के मारे जाने की खबर गलत है। उन्होंने कहा, भारतीय मीडिया ने रिपोर्ट किया था कि भारतीय अधिकारी ये कह रहे हैं की चीन के कम से कम 40 जवान मारे गये, तो मैं ज़िम्मेदारी के साथ ये कह सकता हूं कि ये जानकारी गलत है।

23 जून को एक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान झाओ लिजियान ने कहा, 22 जून को भारत और चीन के बीच सीमा के मुद्दे को लेकर दूसरे राउंड की कमांडर लेवल बातचीत हुई। गलवान घाटी में हुई घटना के बाद इस तरह की ये पहली मीटिंग थी। इसके आगे ये कहा कि भारत और चीन बातचीत के माध्यम से तनाव को कम करने की तरफ ध्यान दे रहे हैं। इसी ब्रीफिंग के दौरान ही PLA के जवानों के मारे जाने वाली खबर का खंडन झाओ ने किया।

Galwan Valley Main Sainik Ke Mare Jane Par China Ne Kya Kaha – गलवान घाटी में सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा

जनरल वीके सिंह ने क्या कहा था

उन्होंने कहा था, अगर हमने 20 जवान खोए हैं, तो उनकी तरफ के डबल जवान मारे गये हैं। चीन आंकड़े छिपाता है। 1962 के वॉर में भी, उन्होंने आंकड़े नहीं बताए थे।

गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद एक बार भी चीन की तरफ से ये नहीं बताया गया कि उनके कितने जवान मारे गये और कितने घायल हुए। इधर भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरावने 23 जून को लेह गये। वहां उन्होंने गलवान घाटी में हुई लड़ाई में घायल हुए सैनिकों से मुलाकात की और उनका हालचाल लिया। भारतीय सेना ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी। साथ ही फोटो भी पोस्ट की है। इसके अलावा 22 जून को सेना प्रमुख जनरल एमएम नरावने ने चीन से लगती सीमा पर लद्दाख, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में तैयारियों की जानकारी ली। सेना के आला अधिकारी भी दिल्ली में सेना की तैयारियों का जायजा ले रहे हैं।

Galwan Valley Main Sainik Ke Mare Jane Par China Ne Kya Kaha – गलवान घाटी में सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा

इधर बातचीत भी चल रही है

झाओ लिजियान ने अपनी ब्रीफिंग में जिस बातचीत का ज़िक्र किया था, वो पूर्वी लद्दाख के चुशुल सेक्टर में मोल्डो नाम की जगह पर हुई थी। यह जगह चीनी इलाके में पड़ती है। करीब 11 घंटे तक बातचीत चली सुबह साढ़े 11 बजे दोनों तरफ के कोर कमांडर मिले और रात को साढ़े 11 बजे उनकी बैठक खत्म हुई।

Kundali Bhagya-If The Sun Is Weak In The Kundali,Then Be Strong With These 3 Measures Luck Will Shine

Samsung Service Center News-Android 11 Apart From Google Pixel Now These Smartphones Will Also Be Found

My Country My Life 5 Sufi Quotes Which One Will Change Your Life !

Lion Quotes Inspiration Ethics The Value Of Courage

Men Will Be Men The Art Of Creating Permanent Fashion Styles For Men

Check Also

Middle class Impact loan takers are going to be bad and no more relief on bad loan moratorium_News 1 India Network_Image Source_Google

Middle Class Impact लोन लेने वालों की होने जा रही है और हालत ख़राब लोन मोरेटोरियम पर अब और राहत नहीं

Middle Class Impact लोन लेने वालों की होने जा रही है और हालत ख़राब लोन …

%d bloggers like this: