Breaking News

Corona Par WHO Ne Kya Kaha?-कोरोना पर डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?

Corona Par WHO Ne Kya Kaha?-कोरोना पर डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?-WHO के वैज्ञानिक ने कहा है कि कोरोना के जो बिना लक्षण वाले केस हैं, उनकी खोज और रोकथाम में बहुत समय लगाया जा रहा है। लेकिन ऐसा करने की ज़रूरत नहीं है। क्योंकि बिना लक्षण वाले केस यानी asymptomatic केसों से दूसरे लोगों में Corono फैल सकता है.

इस बारे में पुख़्ता सबूत उपलब्ध नहीं हैं। WHO के इस बयान के बाद वैज्ञानिकों ने पलटकर WHO से ही सबूत मांग लिए हैं। कौन हैं वैज्ञानिक।डॉ. मारिया वैन कारख़ोव, डॉ. मारिया के ज़िम्मे कोरोना की टेक्निकल टीम है। उन्होंने कहा है,ऐसा शायद ही मुमकिन है कि बिना लक्षण वाले Corono पॉज़िटिव किसी और को कोरोना का इंफ़ेक्शन दे सकते हैं।

Corona Par WHO Ne Kya Kaha?-कोरोना पर डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?

ऐसे में सरकारों को इस दिशा में ध्यान देना चाहिए कि लक्षण वाले कोरोना मरीज़ों में कोरोना की रोकथाम कैसे की जाए। उन्होंने आगे कहा,हमें पता चला कि कई सारे ऐसे देश हैं, जिन्होंने क़ायदे से कांटैक्ट ट्रेसिंग पर ज़ोर दिया। उन्हें बिना लक्षण वाले केस मिले। उन्होंने उन केसों की कांटैक्ट ट्रेसिंग की।

लेकिन उनके बीच उन्हें इन्फ़ेक्शन नहीं मिला और ऐसा होना बहुत ही दुर्लभ है। इसके बारे में प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं। बिना लक्षण वाले केसों की तुलना में जो लक्षण वाले व्यक्ति हैं, उनसे ज़्यादा फैलता है कोरोना। अब इस बयान के बाद वैज्ञानिक भी अपना सिर खुजाने लगे हैं। आशीष झा हॉर्वर्ड ग्लोबल हेल्थ इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर हैं। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहते हैं,

Corona Par WHO Ne Kya Kaha?-कोरोना पर डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?

WHO जो कह रहा है, उससे वायरस और उसके संक्रमण को लेकर पूरी समझ एकदम से बदल जाती है। ये कोई छोटी बात नहीं है। WHO की कही बात के बहुत सारे परिणाम हो सकते हैं। ऐसे में WHO को अपनी बात की सही संदर्भ के साथ व्याख्या करनी चाहिए। आशीष झा ने आगे क्या कहा,

बिना लक्षण वाले केसों की वजह से ही तो ये बीमारी इतनी कठिन है। लेकिन अगर ऐसा नहीं है, तो इसकी वजह से पूरा गेम ही चेंज हो जाता है।
अमेरिका के बॉस्टन चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में रिसर्च कर रही डॉ. अवंतिका सिंह भी कुछ ऐसा ही कहती हैं ,

किसी भी व्यक्ति में सिम्प्टम आने के पहले उस व्यक्ति से इन्फ़ेक्शन फैलने का ख़तरा सबसे ज़्यादा होता है। WHO को इस बारे में और विस्तार से और सबूतों के साथ बात करनी चाहिए। क्योंकि इससे तो पूरा वायरस के स्प्रेड को लेकर जो हमारी सोच है, वो ही बदल जाती है।

Corona Par WHO Ne Kya Kaha?-कोरोना पर डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?

WHO ने बताया कि इन्फ़ेक्शन नहीं फैल सकता तो वैज्ञानिकों ने कहा,

(क्या मज़ाक़ कर रहे है)

Total कोरोना Cases In India
Confirmed – 267000
Recovered – 129000
Deaths – 7742

Shiv Aarti 5 Miraculous Secrets Of Lord Shiva

Capita India Update India’s Economy Fitch Estimates Towards Big Decline This Year Will Fall 10.5%

Ajmer Dargah Khwaja Garib Nawaz Is A Mainstay For Everyone-Amazing Facts

Good Afternoon Thought Cute Heartbreak Quotes To Make You Feel Better

Beauty Parlour At Home Making Yourself Beautiful And Sexy In Your Own Way

Check Also

Middle class Impact loan takers are going to be bad and no more relief on bad loan moratorium_News 1 India Network_Image Source_Google

Middle Class Impact लोन लेने वालों की होने जा रही है और हालत ख़राब लोन मोरेटोरियम पर अब और राहत नहीं

Middle Class Impact लोन लेने वालों की होने जा रही है और हालत ख़राब लोन …

%d bloggers like this: