Redmi 10_Image Source Google Mi Neck Band_Image Source Google

Corona Ki Vaccine Ko Lekar China Aur Italy Sei Jada Khatarnak hein India Ka Virus – कोरोना की वैक्सीन को लेकर चीन और इटली से ज्यादा खतरनाक है भारतीय वायरस

Redmi 10_Image Source Google Mi Neck Band_Image Source Google

Corona Ki Vaccine Ko Lekar China Aur Italy Sei Jada Khatarnak hein India Ka Virus – कोरोना की वैक्सीन को लेकर चीन और इटली से ज्यादा खतरनाक है भारतीय वायरस-सीमा विवाद के चलते भारत और नेपाल के बीच दूरिया बढ़ती जा रही है।

Nepal Ke PM KP Sharma Oli ने 19 मई को वहां की संसद में भारत के खिलाफ बयानबाजी की , कोरोना वायरस पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि बाहर से लोगों के आने की वजह से वायरस को कंट्रोल करना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि भारतीय वायरस अब चीन और इटली की तुलना में ज्यादा घातक लग रहा है।

Corona Ki Vaccine Ko Lekar China Aur Italy Sei Jada Khatarnak hein India Ka Virus – कोरोना की वैक्सीन को लेकर चीन और इटली से ज्यादा खतरनाक है भारतीय वायरस

PM KP Sharma Oli ने कहा कि जो लोग अवैध चैनलों के जरिए भारत से आ रहे हैं, वे देश और कुछ स्थानीय प्रतिनिधियों में वायरस फैला रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा इलाके नेपाल के हैं और किसी भी कीमत पर वे इन इलाकों को नेपाल के नक्शे में मिलाकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि भारत से इस बारे में राजनीतिक और कूटनीतिक दोनों स्तर पर बात की जा रही है

नेपाल और भारत के बीच विवाद क्यों हुआ?

आपको बता दें कि 8 मई को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत और चीन को जोड़ने वाली सड़क का उद्घाटन किया। यह सड़क उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले को लिपुलेख दर्रे से जोड़ती है। कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाने वाले तीर्थयात्री इसी रास्ते से जाते हैं। नेपाल का दावा है कि भारत ने उसके इलाके में सड़क बनायीं है , लिपुलेख दर्रा उसका हिस्सा है। भारत का कहना है कि उसने अपने हिस्से में ही सड़क बनायीं है। इसी को लेकर भारत और नेपाल के बीच तनातनी है,इसके आलावा नेपाल में भारत के खिलाफ प्रदर्शन भी हुए हैं।

Corona Ki Vaccine Ko Lekar China Aur Italy Sei Jada Khatarnak hein India Ka Virus – कोरोना की वैक्सीन को लेकर चीन और इटली से ज्यादा खतरनाक है भारतीय वायरस

अब  Nepal Ke PM KP Sharma Oli ने क्या कहा?

इसी मामले पर KP Sharma Oli ने नेपाल की संसद में बयान दिया। उन्होंने कहा कि कैबिनेट ने नेपाल के नए राजनीतिक नक्शे को स्वीकार कर लिया है, इसमें लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा तीनों इलाके नेपाल की सीमा में हैं , ऐसा उन्होंने कहा, ये इलाके नेपाल के हैं। भारत ने वहां पर सेना तैनात कर इसे विवादित इलाका बना दिया।

भारतीय सेना के वहां होने से नेपाली लोग वहां जा नहीं पा रहे। भारत ने 1962 से वहां पर सेना तैनात कर रखी है, हमारी पुरानी सरकारें और शासक इस मसले को उठाने से हिचकते रहे, लेकिन हम इन जगहों को वापस लेकर रहेंगे। अब यह मसला भुलाया नहीं जाएगा ,अगर कोई गुस्सा होता है तो हमें फर्क नहीं पड़ेगा। KP Sharma Oli ने कहा हमारे ऊपर कोई चीन का दबाओ नहीं है.

Corona Ki Vaccine Ko Lekar China Aur Italy Sei Jada Khatarnak hein India Ka Virus – कोरोना की वैक्सीन को लेकर चीन और इटली से ज्यादा खतरनाक है भारतीय वायरस

KP Sharma Oli ने कहा कि उम्मीद है कि भारत सच्चाई के रास्ते पर चलेगा। उनका देश भारत से मजबूत रिश्ते चाहता है, नेपाल डिप्लोमेसी के रास्ते भारत के संपर्क में है, उन्होंने भारतीय सेना प्रमुख मनोज नरवाने के बयान पर भी पलटवार किया, कहा कि जो कुछ भी नेपाल कर रहा है, वह अपनी मर्जी से कर रहा है।

आपको बता दें कि सेना प्रमुख ने कहा था कि नेपाल किसी और देश के कहने पर सीमा विवाद का मसला उठा रहा है, उनका इशारा चीन की ओर था।

और क्या कहा?

उन्होंने इन आरोपों पर भी जवाब दिया कि उनकी कु्र्सी चीन की मदद से बची। KP Sharma Oli ने कहा कि कुछ लोग कहते हैं एक विदेशी राजदूत ने उनकी सरकार गिरने से बचाई। ऐसे लोगों को याद रखना चाहिए कि यह सरकार नेपाल के लोगों ने चुनी है, ऐसे में कोई भी उन्हें सत्ता से बाहर नहीं कर सकता है।

KT Astrology News Navratri And Astrology 9 Days Of Changing Fortune

Csk Vs Kkr Match News IPL-13 Will Be The Longest Season In History

Naat Sharif 2020 New Heart Touching Beautiful Naat Sharif Islam Sunnat

Apna Time Aayega Lyrics Ranveer Singh Gully Boy 2019

Fancy Dress Competition How To Dress Sexy & Look Good

Redmi 10_Image Source Google Mi Neck Band_Image Source Google
%d bloggers like this: